Skip to content
VM Samael Aun Weor: Gnosis in Hindi - VOPUS
जब हम ऐसी अवस्था को प्राप्त कर लेतें हैं जिसमें हम पूरी तरह अहानिकारक हों, जब हम किसी को कष्ट पहुंचाने मैं पूरी तरह असमर्थ हों, तब हमारे कर्म माफ़ किये जा सकतें हैं
वोपस | नोसिस arrow काबलाह और मनुष्य की रचना
काबलाह और मनुष्य की रचना

Introduction to Kabbalah

छापें ई-मेल
इस के लेख़क हैं Samael Aun Weor   

"The origin of the Kabbalah is lost in the night of the centuries, there, where the universe was formed in the womb of Maha Kundalini, the Great Mother. The Kabbalah is the Science of Numbers."